एक सक्सेसफुल कंटेंट राइटर कैसे बने A TO Z जानकारी – We Say Inside 

कई लोगों को लगता है कि कंटेंट राइटिंग का काम बहुत आसान है। करना क्या है, कोई भी टॉपिक उठाओ, थोड़ी रिसर्च करो, फिर लिख डालो…. ऐसा नहीं होता है मेरे दोस्त !

कंटेंट राइटिंग का काम हो या कोई और प्रत्येक का अपना एक उद्देश्य होता है। उस काम को करने का एक प्रक्रम होता है। उस प्रक्रम को फॉलो कियें बिना कोई भी यहां टिक नहीं पाता है. तो बात करते हैं उस प्रक्रम की जो आपको एक सफल कंटेंट राइटर  बनाने में मदद करता हैं। आर्टिकल की गहराई में उतरने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि कंटेंट क्या होता हैं तो चलिए शुरुआत से शुरू करते हैं।

content marketing

कंटेंट क्या होता है?

कंटेंट का मतलब होता है सामान-सामग्री दोस्तों ऑन-लाइन इंटरनेट के माध्यम से तीन प्रकार से जानकारी हासिल की जा सकती हैं — सुन-कर, देख-कर, पढ़-कर। सुनने के लिए रेडियो, देखने के लिए टीवी, यूट्यूब, वेब-सीरीज और पढ़ने के लिए बुक, या फिर यूट्यूब का डिस्क्रिप्शन. इन सभी को तैयार करने के लिए कंटेंट की आवश्यकता होती है। मतलब इनको भरने के लिए सामान-सामग्री की जरूरत होती है, उसी सामान-सामग्री को कंटेंट कहा जाता है। तो कंटेंट मुख्य तीन प्रकार का होता है।
ऑडियो-कंटेंट,
वीडियो-कंटेंट,
टेक्स्ट-कंटेंट।

कंटेंट राइटिंग क्या है?

कंटेंट राइटिंग का सीधा-सा मतलब होता है। किसी विषय पर कोई पोस्ट-स्क्रिप्ट-आर्टिकल लिखना. कंटेंट राइटिंग करके हमारा उद्देश्य यह होता है कि हम उसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा सके। इसके लिए जरूरी है कि जो कंटेंट तैयार किया गया हैं, वह डिजिटल मार्केटिंग के उद्देश्य को पूरा करता हूं। हम जिस कंटेंट की बात कर रहे हैं वह ब्लॉग के लिए पोस्ट हो सकता है, वीडियो, ऑडियो-पॉडकास्ट के लिए स्क्रिप्ट हो सकती हैं या ट्विटर सोशल-मीडिया पर पोस्ट हो सकती हैं।

कंटेंट राइटर क्या होता है?

कंटेंट राइटर वह बंदा होता है जो किसी विषय पर आर्टिकल को लिख सकता है। विस्तृत रूप में कंटेंट राइटर पर व्यक्ति होता है, जो किसी विषय पर पोस्ट को लिख सकते हैं, लेकिन उसको निम्न चीजों का भी ध्यान रखना आना चाहिए।
उपयोगकर्ता की मंशा को ध्यान में रखकर लिखा गया हो
SEO फ्रेंडली हो
व्याकरण त्रुटि रहित हो ताकि समझने में आसानी हो
सिंगल मीनिंग वाक्य का प्रयोग किया गया हो (कोई वाक्य ऐसे होते हैं जिनको पढ़ने वाला गुमराह हो जाता है। वह समझ नहीं पाता है कि आखिर इस लाइन का मतलब क्या है?)

कंटेंट राइटिंग के प्रकार

वैसे तो कंटेंट राइटिंग का काम सैकड़ों जगहों पर सैकड़ों तरीकों से किया जा सकता है। लेकिन फिर भी एक व्यवस्थित तरीके से आपको बताना चाहूंगा कि कंटेंट राइटिंग को हम इन भागो में समझ सकते हैं।
एक ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग और दूसरा ऑफलाइन कंटेंट राइटिंग।

ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग
पूरे संसार की बात करें या फिर भारत की तो सबसे ज्यादा ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग प्रचलित हैं। ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग की बात करें तो यहां पर पार्ट-टाइम फुल-टाइम या फ्रीलॉन्स तरीके से काम कर सकते हैं। अगर आपकी भाषा पर अच्छी पकड़ है तो इस काम में किसी को भी पछाड़ सकते हो. अगर आपको तीन चार भाषाएं आती हो तो फिर कहना ही क्या ? ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग में भी आपको अलग-अलग प्लेटफार्म मिल जाएंगे।

SEO कंटेंट राइटिंग

किसी भी वेबसाइट का मालिक यह कोशिश करता है कि उसका कंटेंट कि ज्यादा से ज्यादा मार्केटिंग हो। सर्च इंजन को भी पता चले कि उसका कंटेंट किस मंशा को लेकर लिखा गया है। इसके लिए जो कंटेंट लिखा गया है वह सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन को मद्देनजर करते हुए लिखा गया हो।

तकनीकी कंटेंट राइटिंग

तकनीकी कंटेंट राइटिंग वही कर सकते हैं जिसके पास तकनीकी प्रौधोगिकी की कुछ समझ हो। कंप्यूटर, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशंस, मोबाइल-गैजेट्स, बायोटेक्नोलॉजी या मशीनों पर आर्टिकल या कंटेंट को लिखने के लिए टेक्निकल कंटेंट राइटर की आवश्यकता होती है।
कम्युनिकेशन एंड मार्केटिंग कंटेंट राइटिंग
यह बात थोड़ी समझने वाली है दोस्तों ! देखिए SEO कंटेंट राइटिंग में क्या होता है कि इंफॉर्मेशन या सूचना को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना होता है? लेकिन मार्केटिंग कंटेंट राइटिंग में मार्केटिंग के साथ-साथ कंज्यूमर को कुछ कदम उठाने के लिए भी प्रेरित करना होता है।

फीचर राइटिंग

सबसे पहले यह जानते हैं कि फीचर राइटिंग क्या होता है? फीचर लेखन में छोटी-कविताएं, फनी-डायलॉग, छोटी-कहानियां, लाइफस्टाइल पर कुछ टिप्स या इस प्रकार कुछ कॉलम राइटिंग को फीचर राइटिंग में गिना जाता है। फीचर लेखन में सबसे महत्वपूर्ण है कि आपके पास लोगों को सुक्ष्मता से देखने की और उनके आसपास के वातावरण, हाव-भाव को कहानियों में बुनने की क्षमता होनी चाहिए।

कॉपीराइटिंग कंटेंट राइटिंग

हालांकि कॉपीराइटिंग कई तरह की हो सकती हैं लेकिन इनमें सबसे जो कॉमन है वह यह है – आपकी अंतहीन रचनात्मकता। रचनात्मकता से मेरा मतलब है कि आपके पास अदितीय विचारों को सोचने की और उनको वास्तविकता में बदलने की क्षमता होनी चाहिए। मैंने आपको यह तो बताया ही नहीं कि कॉपीराइटिंग क्या होता है ? आप टीवी-रेडियो पर ऐड देखते-सुनते होंगे वहां पर कभी-कभी कोई जिंन्गलिंग गाई जाती हैं या फिर कभी कोई बैनर, होर्डिंग या समाचार पत्रों के ऐड पर कुछ पंक्तियां दिखाई जाती हैं। यह सारा काम कॉपीराइटिंग के अंदर आता है।इसके अलावा भी ऑनलाइन कंटेंट राइटिंग की जा सकती हैं

रिसर्च एंड रिपोर्ट कंटेंट राइटिंग

कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी CSR

एडिटोरियल कंटेंट राइटिंग।

content writing

कंटेंट राइटिंग में करियर

कंटेंट राइटिंग करियर अपने आप में बहुत विविध है। इस जॉब ने करोड़ों लेखकों और विद्यार्थियों को अवसर प्रदान किए हैं। कंटेंट राइटिंग का काम कुछ लोगों के लिए एक स्थिर जॉब भी हो सकता है या किसी के लिए बहुत कम समय तक. यह इस बात पर निर्भर करता है कि कोई व्यक्ति इस करियर में मिलने वाले अवसरों का लाभ किस तरह से उठाता है और किस तरह से वह अपनी जिम्मेदारियों को समझता हैं। दूसरे सभी कामो की तरह यहां पर भी कुछ चुनौतियां हैं, जिनको पार करना होता है। पेशा चाहे कोई भी हो, असफलता को अगर टक्कर देनी हो तो कड़ी मेहनत, समर्पण और दृढ-इच्छा आपके अंदर होनी चाहिए। एक बात आपको कहना चाहूंगा कि कंटेंट राइटिंग इंडस्ट्री उन लोगों के लिए ही बनी है जो लिखने के शौकीन है। अगर आप अपने शौक को पेशा बनाने जा रहे हो तो आपका इस इंडस्ट्री में बहुत-बहुत स्वागत है। किसी भी क्षेत्र में करियर को लोग अवसर और कमाई से आंकते हैं। इस बारे में आपसे यही कहना चाहूंगा कि अगर आप में सीखने की क्षमता है तो यहां पर रोजाना आपको कुछ नया सीखने को मिलेगा। आपके अनुभव आपको नए-नए अवसर प्रदान करने में मदद करेंगे। रही बात कमाई की तो जितना स्मार्ट वर्क उतनी अच्छी कमाई।

कंटेंट कंटेंट राइटिंग के लिए स्किल

किसी विषय पर गहरी रिसर्च करने की योग्यता,
सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की गहरी समझ,
समय पर प्रोजेक्ट पूरा करने की योग्यता,
किसी विषय पर ध्यान केंद्रित करने की योग्यता,
एडिटिंग एडिटिंग एंड एडिटिंग,
सोशल मीडिया की समझ,
अपने ऑडियंस को पहचानता हों,
अपने कंटेंट को एक यूजर के नजरिया से देखने की क्षमता हो,
भाषा पर अच्छी पकड़ हो,
नए विचारों पर काम करने की योग्यता,
अंतहीन सीखने की क्षमता,
बिना हिचकिचाहट लिखने की क्षमता.

कंटेंट राइटिंग के लिए शैक्षिक योग्यता

पत्रकार, फुल-टाइम कंटेंट राइटर, कम्युनिकेशन जैसी जॉब में कभी-कभी जॉब डिस्क्रिप्शन में स्नातक डिग्री मांगी जा सकती हैं।
फ्रीलांस के तौर पर या पार्ट टाइम राइटिंग करने वालों को डिग्री को आवश्कयता नहीं भी नहीं पड़ती है।
व्याकरण और लिखने की अच्छी शैली होनी चाहिए।
नोटपैड, वर्डपैड माइक्रोसॉफ्ट-ऑफिस, बेसिक कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए।
टाइपिंग स्पीड अच्छी होनी चाहिए.
कंटेंट राइटिंग का कोर्स सर्टिफिकेट (यदि ऑनलाइन से कर रखा है तो आप उसे भर सकते हो)

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन का अच्छे से ज्ञान हो
कंटेंट राइटिंग के जॉब डिस्क्रिप्शन को भरते वक्त यदि आपके पास SEO कोर्स सर्टिफिकेट, डिजिटल मार्केटिंग सर्टिफिकेट या कंटेंट राइटिंग सर्टिफिकेट होंगे तो आपको नौकरी मिलने के चांस बढ़ जाते हैं.

content writing job

कंटेंट राइटिंग का काम शुरू कैसे करें ?

कंटेंट राइटिंग के काम की शुरुआत से पहले मैं बताना चाहूंगा कि सबसे पहले आप तय कर लीजिए कि आप अपने खुद के लिए काम करोगे या फ्रीलांस के तौर पर किसी और के लिए।
अपने काम जैसे खुद का वेबसाइट ब्लॉग या मार्केटिंग और दूसरों के लिए जैसे कि पार्ट-टाइम या फुल-टाइम कंटेंट राइटर के तौर पर।
आप अपने लिए काम करते हो तो कोई दिक्कत ही नहीं सीखते जाओ और लिखते जाओ। वहीं अगर आप जॉब के लिए आवेदन करने वाले हो तो आपको अपना रिज्यूम तैयार करना पड़ेगा। उसमें अपनी स्किल, अपनी क्वालिफिकेशन, आपकी किस भाषा पर पकड़ हैं। इन सारी इंफॉर्मेशन को आपको भरनी पड़ेगी। इसके बाद आप या तो किसी कंपनी में या फ्रीलांस की साइट पर अपना रिज्यूम अपलोड कर सकते हो। यहां पर मेरी एक टिप्स रहेगी कि अगर आप बिल्कुल शुरुआती दौर में हो तो सोशल मीडिया पर या लोकल वेबसाइट पर जॉब को ढूंढ सकते हो. मुझे पक्का विश्वास है कि वहां पर आपको अपने आसपास जरूर कोई जॉब मिल जाएगी. यह सब इसलिए बोल रहा हूं क्योंकि भाई मुझे भी कंटेंट राइटिंग के लिए सबसे पहली जॉब फेसबुक पर ही मिली थी।

हिंदी कंटेंट राइटिंग जॉब्स

कंटेंट राइटिंग की जॉब आपको लगभग हर भाषा में मिल जाएगी। रही बात हिंदी की तो भारत में बहुत बड़ा वर्ग जो हिंदी को समझता है और पढ़ना जानता है। अंग्रेजी भाषा की तुलना में थोड़े अवसर कम हैं लेकिन कंपटीशन भी उतना ही कम है। कुल मिलाकर हिंदी में कंटेंट राइटिंग में आप करियर बना सकते हो। मैं फिर आपसे कहूंगा कि लोकल वेबसाइट या। सोशल मीडिया पर आपको हिंदी कंटेंट राइटिंग के लिए जॉब मिल जाएगी।
बड़ी-बड़ी कंपनियां और न्यूज़ वेबसाइट भी हिंदी न्यूज के कंटेंट राइटिंग के लिए कंटेंट राइटर को हायर करती रहती हैं तो वहां पर भी आप अप्लाई कर सकते हो।

फ्री कंटेंट राइटिंग कोर्स

ऑनलाइन बिल्कुल फ्री आपको बहुत से ऐसे कोर्स मिल जाएंगे। जिनको आप आसानी से पूरा करके सर्टिफिकेट भी प्राप्त कर सकते हो। गूगल पर जाकर सर्च कीजिए फ्री कंटेंट राइटिंग कोर्स विद सर्टिफिकेट। हां, एक बात का ध्यान रखना कि वहां पर आपको अलग-अलग प्रकार के कोर्स मिल सकते हैं जिस विषय पर आप करना चाहते हो कर सकते हो।

कंटेंट राइटिंग सैलेरी

कंटेंट राइटिंग करने वाले की सैलरी प्रति सब्द पर तय की जाती हैं। पीपीडब्ल्यू यानी प्राइस पर वर्ड. मान लो आप प्रति सब्द पर 40 पैसे लेते हो तो 500 शब्दों के एक आर्टिकल में आपको 200 मिलेंगे। यदि आप यही काम भारत से बाहर करते हो तो यही पीपीडब्ल्यू 3 से 4 गुना बढ़ जाता है।

ये भी पढ़े :  Instagram Influencer कैसे बने और कैसे कमाए A TO Z IN HINDI- We Say Inside

 

आपके लिए कुछ विशेष

मुझे पता है जब आप अपना रिज्यूम तैयार करके जॉब को ढूंढने निकलोगे (ऑनलाइन भी) तब आपको कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। हो सकता है कि आप एक दो जगह से रिजेक्ट कर दिया जाओ. पर एक बात का ध्यान रखना, सफलता और असफलता के बीच में एक लकीर होती है।
अगर एक बार उस लकीर को टच कर लिया, फिर आप रुकने वाले नहीं हो। अगर आप अवश्य उस सफलता का सपने देखते हो, जिसको पाना थोडा मुश्किल हों सकता हैं लेकिन नामुमकिन नहीं. तो वहां तक पहुंचने के लिए कुछ पापड़ तो बेलने पड़ेंगे।
मुझे पूरा भरोसा है कि अगर लाखों लोग यह काम कर सकते हैं तो आप और मैं क्यों नहीं ? बिल्कुल कर सकते हैं?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Vyvsay